UPSC MAIN Examination – Essay Writing Tips

UPSC MAIN Examination – Essay Writing Tips

प्रिय मित्रों, आज मैं सिविल सेवा परीक्षा का दूसरा चरण अर्थात मुख्य परीक्षा का पाठ्यक्रम, अध्यनन सामग्री, परीक्षा की रणनीति आदि पर चर्चा करने जा रहा हूँ. प्रारंभिक परीक्षा देने वाले उम्मीदवारों में से कुछ गंभीर एवं योग्य उम्मीदवारों को चुन लिया जाता है तथा चुने हुए उम्मीदवारों के बीच मुख्य परीक्षा आयोजित कराई जाती है. जहाँ प्रारंभिक परीक्षा पूरी तरह वस्तुनिष्ठ (Objective) होती है तो वहीं मुख्य परीक्षा वर्णनात्मक (Descriptive) होती है. प्रश्नों के उत्तर को एक निश्चित शब्द सीमा के अंदर अपने शब्दों में लिखना होता है. इसलिए मुख्य परीक्षा में सफल होने के लिए अच्छी लेखन शैली को भी एक महत्वपूर्ण योग्यता माना जाता है.

मुख्य परीक्षा की संरचना (Structure of Main Examination)

2013 से मुख्य परीक्षा में कुछ खास परिवर्तन किए गए है. अब मुख्य परीक्षा कुल 1750 अंकों की हो गई है जिसमें 1000 अंक सामान्य अध्ययन के लिए (250 – 250 अंक के चार प्रश्नपत्र), 500 अंक एक वैकल्पिक विषय के लिए (250 – 250 अंकों के दो प्रश्नपत्र) और 250 अंक निबंध के लिए निर्धारित है. इसके साथ ही 300 अंकों के Qualifying Nature के दो प्रश्न पत्र होते है जिसमे एक Compulsory English और दूसरा संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल कोई भी भाषा जैसे हिंदी, मराठी, बंगाली, गुजरती इत्यादि।

मुख्य परीक्षा के लिए तैयारी की रणनीति (Strategy for Preparation of Main Examination)

पेपर – 1: निबंध (250 अंक)

125 -125 अंकों के दो निबंध पूछे जाएंगे प्रत्येक निबंध को 1000 – 1200 शब्दों में लिखने है.
निबंध की तैयारी के लिए कोई खास पुस्तकों को पढ़ने की ज़रूरत नहीं है और ना इसकी अलग से तैयारी करने की कोई विशेष आवश्यकता होती है. किन्तु हाँ इसकी उचित तरीके से तैयारी आपको इसमें 130+ अंक दिला सकती है. इसकी तैयारी आपकी प्रारंभिक परीक्षा की तैयारी के साथ ही शुरू हो जानी चाहए।
जैसा की मैंने अपने पिछले ब्लॉग में ही कहा है निबंध लिखने की तैयारी न्यूज़ पेपर, योजना पत्रिका एवं Drishti या Chronical की मासिक पत्रिका से आरंभ हो जानी चाहए। विभिन्न विषयों पर छपे लेखों को अच्छे से पढ़ कर उस विषय पर अपनी बलैंस राय बनाने की कोशिश करें फिर अपनी उसी राय को कॉपी में लिखें जिनसे आपके लिखने एवं सोचने की क्षमता का विकास होगा. आप पिछले साल के प्रश्नों को ज़रूर पढ़े और उसे हल करके अपने किसी अध्यापक या कोई भी जिन्हें वो विषय का ज्ञान हो उनसे जाँच करवाएं। आप हर महीने कम से कम दो विभिन्न विषयों पर निबंध लिखने का प्रयास ज़रूर करें. अब आपके मन में यह प्रश्न भी आ सकती है कि लिखने के लिए किस विषय का चुनाव करे? जब आप 2 महीनों तक लगातार न्यूज़ पेपर , मासिक पत्रिका एवं सिविल सेवा के परीक्षा में पिछले कुछ वर्षों में पूछे गए प्रश्नों को देखेंगे तो आपके मन में स्वयं अनेक विषय आने लगेंगें। आप उन्हें विषयों पर पर लिखना आरंभ कर दे.

बाकी बचे हुए पेपर के तैयारी की रणनीति के बारे में मैं अपने दूसरे ब्लॉग में चर्चा करूँगा.

धन्यवाद।
विशाल केसरी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *